क्या माया एवं जोगी की जोड़ी छत्तीसगढ़ में लोकसभा में दिखा पायेगी कमाल….??? मंथन हुआ शुरू

जनता कांग्रेस-बसपा गठबंधन लोकसभा चुनाव में इन 3 सीटों पर लगाएगा जोर

रायपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर जनता कांग्रेस एवं बहुजन समाज पार्टी गठबंधन ने रणनीति बनानी शुरु कर दी है। गठबंधन उन 3 सीटों पर पूरी ताकत लगाना चाहता है जहां कांग्रेस एवं भाजपा के साथ बराबरी से मुकाबला कर सके। ये तीन सीटें कोरबा, बिलासपुर एवं जांजगीर चाम्पा हैं।

विधानसभा चुनाव में भाजपा जिसकी लगातार 3 बार सरकार रही थी, उसकी जीत मात्र 15 सीटों में सिमटकर रह गई और उसके सामने छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जैसी प्रदेश स्तर की नई पार्टी के पांच प्रत्याशियों का जीतकर आना वास्तव में एक बड़ा राजनीतिक उलटफेर रहा है। वहीं बसपा छत्तीसगढ़ में जहां पर खड़ी थी, कम से कम उससे तो नीचे नहीं आई है। विधानसभा चुनाव में उसके भी दो प्रत्याशी जीतकर आए हैं। जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी पहले ही खुले तौर पर ऐलान कर चुके हैं कि लोकसभा चुनाव भी उनकी पार्टी एवं बसपा मिलकर लड़ेंगी।

यह भी उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी भी जकां एवं बसपा के गठबंधन का हिस्सा थी। हो सकता है लोकसभा चुनाव में भी वह गठबंधन का हिस्सा रहे। बहरहाल जकां-बसपा गठबंधन तीन सीटों कोरबा, बिलासपुर एवं जांजगीर-चाम्पा को टारगेट करके चल रहा है। अमित जोगी विधानसभा चुनाव नहीं लड़े थे। उन्होंने अपना पूरा वक्त मरवाही (अजीत जोगी), कोटा (श्रीमती रेणु जोगी) एवं अकलतरा (श्रीमती ऋचा जोगी) के चुनाव संचालन में लगाया था। अजीत जोगी एवं श्रीमती रेणु जोगी चुनाव जीतने में सफल रहे। अब संभावना यह बनती नजर आ रही है अमित जोगी कोरबा से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक जोगी परिवार ने दूसरा विकल्प भी सोच रखा है।

यह भी हो सकता है अमित के बजाय अजीत जोगी कोरबा से चुनाव लड़ लें। यह गणित बिठाया जा सकता है कि यदि कोरबा लोकसभा सीट से अजीत जोगी का दिल्ली जाने का रास्ता खुला तो वे मरवाही की विधायकी छोड़ेंगे और आगे अमित के लिए वहां से विधानसभा उप चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो जाएगा। जोगी परिवार चाह रहा है बिलासपुर से धर्मजीत सिंह चुनावी मैदान में उतरें। धर्मजीत सिंह लोरमी विधानसभा सीट से जनता कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीतकर आए हैं। वर्तमान में वे जनता कांग्रेस विधायक दल के नेता भी हैं। उनका राजनीतिक सफर लंबा है।

काफी अनुभवी राजनीतिक खिलाड़ी माने जाते हैं। रही बात जांजगीर चांपा सीट की तो यहां से बसपा के वरिष्ठ नेता दाऊराम रत्नाकर लड़ना तय माना जा रहा है। रत्नाकर पूर्व में 3 बार विधायक रह चुके हैं। चाम्पा जांजगीर लोकसभा क्षेत्र में जो विधानसभा सीटें आती हैं, उनमें बसपा का व्यापक प्रभाव माना जाता है। वर्तमान में बसपा की टिकट से केशव चंद्रा जैजैपुर एवं पामगढ़ से श्रीमती इंदू बंजारे जो चुनाव जीते, इन दोनों विधायकों का क्षेत्र जांजगीर चाम्पा लोकसभा सीट में ही आता है। बहरहाल लोकसभा चुनाव को लेकर जकां-बसपा गठबंधन ने कमर कसनी शुरु कर दी है।

bhupendra

Next Post

प्रेम_प्रसंग_में_युवक_ने_लगाई_फांसी_हुई_मौत

Mon Feb 25 , 2019
#प्रेम_प्रसंग_में_युवक_ने_लगाई_फांसी_हुई_मौत खरसिया। 27 वर्षीय युवक ने किराए के कमरा में फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। स्थानीय व्यक्तियों के द्वारा घटना की सूचना पर खरसिया चौकी पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में ले लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सत्यप्रकाश डेन्जारे पिता अशोक डेन्जारे, ग्राम – सिंघरा, थाना व […]

You May Like

Breaking News