चीन ने हिंदुस्तान के खिलाफ छेड़ा इनडायरेक्ट वॉर

चीन ने हिंदुस्तान के खिलाफ छेड़ा इनडायरेक्ट वॉर

News

 नई दिल्‍ली: बॉर्डर पर सैनिकों की आमने-सामने की लड़ाई में बुरी तरह मुंह की खाने के बाद अब चीन ने हिंदुस्तान के खिलाफ इनडायरेक्ट वॉर छेड़ दिया है। इस वॉर का नाम है, स्पाई वॉर। खुफिया एजेंसियों को अंदेशा है कि चीन के करीब एक हजार जासूस इस वक्त भारत के अलग-अलग शहरों में मौजूद हैं।

हिंदुस्तान की जमीन में चीन के जासूसी नेटवर्क की जड़ें कितनी गहरे तक जम चुकी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि ये तीनों पिछले कई सालों से राजधानी दिल्ली में रहकर चीन के लिए जासूसी कर रहे थे। भारत की खुफिया एजेंसियों को जैसे ही इस बात की भनक लगी, इन्हें आनन-फानन में दबोच लिया गया।

चीन के शातिर जासूसों की ये तिकड़ी कभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ती, अगर कुछ दिनों पहले भारतीय खुफिया एजेंसी ड्रैगन के उस जासूस तक नहीं पहुंच पाते जिसका नाम था लुओ सांग उर्फ चार्ली पेंग। लुओ सांग और उर्फ चार्ली पेंग को गिरफ्तार करके भारतीय खुफिया एजेंसियों ने चीन के जासूसी नेटवर्क की कमर तोड़ दी। खुफिया एजेंसियों के सामने चार्ली ने अपने उन कई साथियों का राज़ उगल दिया, जिसके बाद भारत की खुफिय़ा एजेंसियां चीन के जासूसी नेटवर्क को ध्वस्त करने में जुट गई। दिल्ली से गिरफ्तार हुए चीन के तीन जासूस उसी नेटवर्क का हिस्सा था।

खुफिया एजेंसियों और पुलिस की जांच में ये भी पता चला कि राजीव शर्मा ने कई खुफिया जानकारियां चीन को सौंपी थी, जिसके बदले में इसे मोटी पेमेंट भी की गई। शी करीब सात साल पहले छात्र वीजा पर भारत आई थी और नर्सिंग की पढ़ाई करने के बाद शेर सिंह के साथ मिलकर दिल्ली में ही फर्जी कंपनी चलाने लगी। इन्हीं कम्पनियों के जरिये चीन से आने वाली रकम का हिस्सा राजीव को मुहैया कराया जाता था। दिल्ली पुलिस की राजीव को इंडियन आर्मी से जुड़ी हर सूचना देने के लिए करीब 73 हजार रुपये मिलते थे।

bhupendra

Next Post

रायपुर : छत्तीसगढ़ में कृषि पर्यटन के क्षेत्र में विशेष संभावनाएं: सुश्री उइके

Mon Sep 28 , 2020
रायपुर : छत्तीसगढ़ में कृषि पर्यटन के क्षेत्र में विशेष संभावनाएं: सुश्री उइके राज्यपाल ने स्मारिका ‘घुमक्कड़ जंक्शन’ के छत्तीसगढ़ पर्यटन विशेषांक का ऑनलाइन विमोचन किया रायपुर, 27 सितम्बर 2020 छत्तीसगढ़ पर्यटन की दृष्टि से विविधताओं वाला प्रदेश है। कृषि उत्पादन की दृष्टि से यहां अनेकों विविधताएं हैं, यहां पर […]