चोरी और सीनाजोरी: कोरोना को लेकर चीन ने दुनिया पर लगाया ये बड़ा आरोप

चोरी और सीनाजोरी: कोरोना को लेकर चीन ने दुनिया पर लगाया ये बड़ा आरोप

News

 

बीजिंग: चीन ने दावा किया कि पिछले साल दुनिया भर के कई देशों में कोरोना महामारी फैली थी, लेकिन चीन ने सबसे पहले इसके बारे में जानकारी दी, इसलिए चीन को निशाना बनाया जा रहा है। चीन ने एक बार फिर आरोपों का खंडन किया कि कोरोना वुहान से पूरी दुनिया में फैल गया था। चीन ने अमेरिकी आरोपों का भी खंडन किया है कि कोरोना वायरस दुनिया भर में फैलने के लिए वुहान की बायो लैब में बनाया गया था और यह मनुष्यों को प्रेषित होने से पहले चमगादड़ या पैंगोलिन द्वारा एक चीनी शहर पशु बाजार से उत्पन्न हुआ था।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि “कोरोना वायरस एक नए तरह का वायरस है। रिपोर्ट सामने आने के बाद अधिक से अधिक तथ्य सामने आते हैं। हम सभी जानते हैं कि पिछले साल के अंत में दुनिया में कई जगहों पर यह महामारी फैल गई थी, जबकि चीन प्रकोप की रिपोर्ट करने वाला पहला था। हमने रोगज़नक़ की पहचान की और दुनिया के साथ जीनोम अनुक्रम साझा किया।”

चीन के सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) द्वारा इस मामले को दबाने को लेकर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के आरोपों के जवाब में यह टिप्पणियां आईं है। पोम्पेओ ने यूएसए, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान की क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक में टोक्यो में कहा, ‘चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के दबाव के कारण कोरोना वायरस संकट को बदतर बना दिया गया था।

जॉन्स हॉपकिन्स की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस से करीब 36 मिलियन से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और दुनिया भर में 1 मिलियन से अधिक लोग मारे गए हैं। 7.6 मिलियन से अधिक मामलों और 2,12,000 से अधिक मौतों के साथ अमेरिका सबसे बुरी तरह प्रभावित देश है। चीन ने कोविड-19 की वजह से 90,736 संक्रमित मामलों और 4,739 मौतों की सूचना दी है।

हुआ ने पोम्पिओ के आरोप का खंडन करते हुए कहा कि चीनी वैज्ञानिकों के एक उच्च-स्तरीय समूह ने 19 जनवरी को कोरोना वायरस के कारण पहले व्यक्ति-से-व्यक्ति संचरण की पहचान की थी। पूरी तरह से अनुसंधान और जांच के बाद चीन ने जल्द से जल्द निर्णय लिया और वुहान शहर को बाहरी दुनिया में बंद कर दिया। वुहान शहर और हुबेई प्रांत को क्‍वारंटीन करने में सबसे कठोर उपाय किए गए।

उन्‍होंने कहा कि सीपीसी पोलित ब्यूरो ने जनवरी में चंद्र नव वर्ष के पहले दिन वायरस के प्रकोप पर चर्चा की और अपने 31 प्रांतों व नगर पालिकाओं के प्रकोप पर बैठक बुलाई, जिसमें एक स्तर पर आपातकालीन प्रतिक्रिया को सक्रिय किया गया। 23 जनवरी को जब चीन ने वुहान को लॉकडाउन पर रखा था, तब चीन के बाहर केवल नौ पुष्टि के मामले थे और अमेरिका के पास केवल एक था। 2 फरवरी को जब अमेरिका ने चीनी नागरिकों के लिए अपनी सीमा बंद कर दी, तो अमेरिका ने केवल एक दर्जन मामलों की आधिकारिक पुष्टि की। अब अमेरिका में पुष्टि के मामले 7.5 मिलियन और 2.10 लाख से अधिक हो गए हैं।

bhupendra

Next Post

Shaniwar Ke Upay: शनिवार के उपाय, ऐसे करें पीपल के पेड़ की पूजा, शनिदेव कर देंगे मालामाल

Sat Oct 10 , 2020
Shaniwar Ke Upay: शनिवार के उपाय, ऐसे करें पीपल के पेड़ की पूजा, शनिदेव कर देंगे मालामाल       Shaniwar Ke Upay: आज शनिवार (Saturday) है और मान्यता के मुताबिक शनिवार का दिन न्याय के देवता शनिदेव (Shani Dev) का होता है। दरअसल शास्त्रों में शनिदेव को न्याय का देवता कहा गया है। […]

Breaking News