नॉर्थ कोरिया ने दिखाई ऐसी मिसाइल, जिससे कांप गई दुनिया

नॉर्थ कोरिया ने दिखाई ऐसी मिसाइल, जिससे कांप गई दुनिया

नई दिल्ली: उत्तर कोरिया (North Korea) ने शनिवार को एक विशाल इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) का प्रदर्शन किया। जिसे विश्लेषकों ने अभी तक की सबसे बड़ी मिसाइल बताया है। इस इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल को ट्रांसपोर्टर इरेक्टर लॉन्चर से लाया गया। राज्य के प्रसारक केसीटीवी के फुटेज में दिखाया कि एक ट्रांसपोर्टर-एरेक्टर-लॉन्चर को किम इल सुंग चौक से घुमाया गया।

 

इस मिसाइल के शो के बाद दुनियाभर में इसकी चर्चा होने लगी। फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स के अंकित पांडा ने ट्वीट किया, यह सबसे बड़ी रोड-मोबाइल लिक्विड फ्यूल मिसाइल है। यह इतनी बड़ी है कि 11 पहियों के ट्रक पर इसे लादा गया। इंटरकॉन्टिनेंटल मिसाइल गाइडेड बैलिस्टिक मिसाइल हैं। जिन्हें कम से कम साढ़े पांच हजार किलोमीटर तक भेजकर दुश्मन को तबाह किया जा सकता है। ये मिसाइल न्यूक्लियर वेपन डिलीवरी के लिए तैयार की जाती हैं।

 

 

 

पिछले साल की शुरुआत में हनोई शिखर वार्ता के खत्म होने के बाद से प्योंगयांग और वाशिंगटन के बीच परमाणु वार्ता गतिरोध में है। उत्तर कोरिया को व्यापक रूप से माना जाता है कि उसने कूटनीतिक प्रक्रिया के दौरान अपने शस्त्रागार के विकास जारी रखा है। नॉर्थ कोरिया ने 2017 में ऐसी मिसाइलों को लॉन्च कर दिया था जो अमेरिका में कहीं भी पहुंचने की क्षमता रखती हैं। मिसाइल आगामी अमेरिकी चुनावों के दौरान टेस्ट की जा सकती है।

 

 

ICBM की शुरुआत पहले पुकगुकसॉन्ग -4 ए से हुई, जो एक नई पनडुब्बी द्वारा लॉन्च की गई मिसाइल है। इस मिसाइल ने नॉर्थ कोरिया की ताकत में एक और आयाम जोड़ा है। ग्रे सूट पहने हुए किम ने भीड़ से कहा, प्योंगयांग आत्मरक्षा और निरोध के लिए हमारी सेना को मजबूत करना जारी रखेगा। किम ने कहा, अगर आपके पास ताकत नहीं है, तो आपको आंसू और खून को पोंछना होगा। फुटेज में दिखाया गया था कि भीड़ में मौजूद महिलाओं ने यह सुनकर आंखों से आंसू पोंछ दिए।

 

व्यापक रूप से प्रत्याशित यह प्रदर्शन उत्तर की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की 75 वीं वर्षगांठ के स्मरणोत्सव का हिस्सा था। दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी खुफिया एजेंसियां  इस प्रदर्शन पर बारीकी से नजर रख रही हैं। दिसंबर के अंत में किम ने नए रणनीतिक हथियार का प्रदर्शन करने की धमकी दी थी, लेकिन विश्लेषकों का कहना है कि नॉर्थ कोरिया को अभी अगले महीने के राष्ट्रपति चुनाव से पहले वाशिंगटन के साथ अपने अवसरों को खतरे में डालने से बचने के लिए सावधानी से चलना होगा। पिछले कई अवसरों के विपरीत किसी भी अंतर्राष्ट्रीय मीडिया को परेड देखने की अनुमति नहीं थी।

 

रूसी दूतावास के अनुसार, प्योंगयांग में बचे कुछ विदेशियों का स्मारक पर नहीं बुलाया गया। इसके साथ ही राजनयिकों और अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधियों से वेन्यू के दृष्टिकोण या फोटो न लेने का आग्रह किया गया। किम देश का नेतृत्व करने वाले अपने परिवार के तीसरे सदस्य हैं। लेकिन बदलते जोर के संभावित संकेत में, उनके दादा, उत्तर के संस्थापक किम इल सुंग और पिता किम जोंग इल के पोस्टर या पोट्रेट हटे दिखाई दिए।

bhupendra

Next Post

आखिरकार हुआ पुजारी का अंतिम संस्कार, सरकार ने की ये घोषणा

Sat Oct 10 , 2020
आखिरकार हुआ पुजारी का अंतिम संस्कार, सरकार ने की ये घोषणा        नई दिल्ली: राजस्थान के करौली (Karauli) जिले में मंदिर के पुजारी की हत्या के मामले के तूल पकड़ने के बाद आखिरकार पुजारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया। अशोक गहलोत सरकार ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये […]

Breaking News