मचा हड़कंप: बलिया मर्डर मामले में पुलिसकर्मियों के खिलाफ हुआ ये एक्शन

मचा हड़कंप: बलिया मर्डर मामले में पुलिसकर्मियों के खिलाफ हुआ ये एक्शन

 

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के बलिया गोलीकांड (Ballia Murder) पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा एक्शन लेते हुए एसडीएम और सीओ को सस्पेंड करने के निर्देश दे दिए थे। अब इस सनसनीखेज हत्याकांड में एडीजी के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक (एसपी) ने तीन सब इंस्पेक्टर, पांच कांस्टेबल और दो महिला कांस्टेबल सस्पेंड कर दिए हैं। कुल दस पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलम्बन की कार्रवाई होने से हड़कंप मच गया है।

पुलिस विभाग से मिली जानकारी के अनुसार घटना के समय मौके पर तैनात रेवती थाने के सब इंस्पेक्टर और हल्का इंचार्ज सूर्यकान्त पाण्डेय, एसआई सदानंद यादव, गोपालनगर के पुलिस चौकी के इंचार्ज कमला सिंह यादव, कांस्टेबल रूपेश पाण्डेय, रिंकू सरोज, आनन्द चौहान, राम प्रसाद, महिला कां. प्रीति यादव और सोनल सिंह को निलम्बित कर दिया गया है।

इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ने सीओ के हमराह सिपाही को भी सस्पेंड कर दिया है। इस मामले में मुख्यमंत्री के निर्देश पर एसडीएम बैरिया और सीओ बैरिया को पहले ही सस्पेंड किया जा चुका है। बलिया गोलीकांड में बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह का बेतुका बयान सामने आया है। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि आरोपी गोली नहीं चलाता तो कई लोग मारे जाते। इतना ही नहीं बलिया विधायक ने आरोपी का बचाव करते हुए कहा कि धीरेंद्र सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलाई है।

ग्राम दुर्जनपुर में राशन की दुकानों के आवंटन पर एक बैठक में धीरेंद्र सिंह नाम के शख्‍स ने जयप्रकाश नाम के व्‍यक्‍ति की गोली मारकर हत्या कर दी थी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, उनके और धीरेंद्र सिंह के बीच लड़ाई हुई थी। धीरेंद्र सिंह भाजपा कार्यकर्ता ने पार्टी विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया जा रहा है।

धीरेंद्र सिंह पुलिसकर्मियों की नाक के नीचे भागने में कामयाब हो गया, जबकि उसके भाई देवेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। बीजेपी विधायक ने कहा, “मैं दुखद घटना की निंदा करता हूं, लेकिन मैं प्रशासन की एकतरफा जांच की भी निंदा करता हूं। अगर धीरेंद्र सिंह ने आत्मरक्षा में गोली नहीं चलाई होती, तो उनके परिवार के दर्जनों लोग मारे जाते। उनके पास मरने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था।” सुरेंद्र सिंह ने पुष्टि की कि धीरेंद्र सिंह उनके करीबी सहयोगी हैं और बलिया में भाजपा की पूर्व सैनिकों की इकाई के प्रमुख हैं।

bhupendra

Next Post

Big Breaking: नीट के इतिहास में पहली बार, एक नहीं, दो विद्यार्थियों के 720 में से 720 अंक

Fri Oct 16 , 2020
Big Breaking: नीट के इतिहास में पहली बार, एक नहीं, दो विद्यार्थियों के 720 में से 720 अंक     नई दिल्ली: देशभर के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली नीट परीक्षा (Neet Result 2020) का परिणाम शुक्रवार को जारी कर दिया गया। नीट के इतिहास में पहली बार […]