सरकार का बड़ा फैसला: गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी का बदलेगा नियम, जानें कब होगा लागू

सरकार का बड़ा फैसला: गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी का बदलेगा नियम, जानें कब होगा लागू

News

 

नई दिल्लीः एलपीजी सिलेंडर में हो रही हेरफेरी को रोकने के लिए सरकार अब बड़ा कदम उठाने जा रही है। सरकार 1 नवंबर से सख्त नियमों को लागू करने की तैयारी कर रही है। हर किसी को इस नियम के बारें में जानना जरूरी है। LPG सिलेंडर की होम डिलीवरी का पूरा सिस्टम अब बदलने वाला है। दरअसल, अगर आप भी घर बैठे सिलेंडर मंगवाते हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। भारत की सरकारी तेल कंपनियों के मुताबिक एक नवंबर से देश के 100 स्मार्ट सिटीज में गैस की डिलीवरी के लिए वन टाइम पासवर्ड अनिवार्य हो जाएगा।

सरकार का लक्ष्य यह है कि गैस सिलेंडर सही उपभोक्ता तक पहुंचे। इसे सुनिश्चित करने के लिए नई व्यवस्था लागू की जा रही है यानी अब जब 1 नवंबर से सिलेंडर लेकर डिलीवरी ब्वॉय आपके घर आएंगे तो उन्हें OTP बताना होगा। यह कदम सिलेंडर से चोरी होने वाली गैस, सिलेंडर चोरी रोकने और सही कस्टमर की पहचान के लिए लागू किया जा रहा है। इस नियम के तहत जैसे ही आप सिलेंडर बुक करेंगे, आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।

इसके बाद जब डिलीवरी ब्वॉय आपके घर पर गैस सिलेंडर पहुंचाने आएंगे तो उन्हें ओटीपी बताना होगा। ओटीपी साझा किए बगैर एलपीजी सिलेंडर डिलिवर नहीं हो पाएगा। फिलहाल जयपुर और तमिलनाडु के कोयंबटूर में इस व्यवस्था को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागू किया गया है। लेकिन अब नवंबर, 2020 से इस योजना का विस्तार देश के 100 स्मार्ट शहरों में किया जा रहा है। इन शहरों से मिलने वाले फीडबैक के आधार पर व्यवस्था का विस्तार देशभर में किया जाएगा।

– ध्यान रखने वाली बात

अगर आपका घर 100 स्मार्ट सिटी में है और आपका मोबाइल नंबर गैस एजेंसी के पास रजिस्टर्ड नहीं है या फिर नंबर बदल गया है तो तुरंत नंबर अपडेट करवा लें। इसके अलावा डिलीवरी ब्वॉय को एक ऐप की सुविधा दी जाएगी। डिलिवरी के वक्त आप उस ऐप की मदद से अपना मोबाइल नंबर डिलिवरी ब्वॉय को अपडेट करा सकते हैं।

bhupendra

Next Post

Navratri 2020: नवरात्रि के दूसरे दिन ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना

Sun Oct 18 , 2020
Navratri 2020: नवरात्रि के दूसरे दिन ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, पूरी होगी हर मनोकामना       Navratri 2020: आज नवरात्र का दूसरा दिन है। दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा होती है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या व चारिणी का अर्थ है आचरण करने वाली देवी। मां के हाथों […]

Breaking News