Facebook इंडिया पॉलिसी हेड अंखी दास ने छोड़ी कंपनी, पक्षपात के लगे हैं आरोप

Facebook इंडिया पॉलिसी हेड अंखी दास ने छोड़ी कंपनी, पक्षपात के लगे हैं आरोप

हाल ही में आंखी दास डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं. सूत्रों के मुताबिक, समिति के सदस्यों ने उनसे दो घंटे तक सवाल किए थे.

नई दिल्ली: फेसबुक इंडिया की पब्लिक पॉलिसी की हेड (नीतिगत प्रमुख) आंखी दास ने कंपनी छोड़ दिया है. फेसबुक ने इसकी जानकारी दी है. हाल ही में आंखी दास डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं. इस समिति की अध्यक्षता बीजेपी सांसद मिनाक्षी लेखी कर रही हैं.

बीते दिनों में फेसबुक पर हेट स्पीच को बढ़ावा देने और राजनीतिक झुकाव के आरोप लगे. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक अमेरिकी अखबार के रिपोर्ट का हवाला देते हुए ट्वीट किया था कि किस तरह से भारत में फेसबुक हेट स्पीच के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है. राहुल गांधी के आरोपों के बाद इस मुद्दे बीजेपी और कांग्रेस आमने सामने हो गए थे.

इन आरोपों पर फेसबुक ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी और कहा था कि वे हेट स्पीच के मामले में कार्रवाई को लेकर सजग है. फेसबुक ने कहा था कि अपनी पॉलिसी के हिसाब से किसी भी पार्टी या धर्म को नहीं देखता है और निष्पक्षता के साथ काम करता है.

23 अक्टूबर को आंखी दास से हुए थे सवाल-जवाब

23 अक्टूबर को फेसबुक की पॉलिसी प्रमुख अंखी दास बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की अध्यक्षता वाली डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 पर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश हुई थीं. सूत्रों ने बताया कि समिति के सदस्यों ने उनसे दो घंटे तक कई तरह सवाल किए. बैठक के दौरान एक सदस्य ने कहा कि सोशल मीडिया कंपनी को अपने विज्ञापनदाताओं के वाणिज्यिक फायदे के लिए या चुनावी मकसद से अपने उपभोक्ताओं के डाटा में सेंध नहीं लगाने देनी चाहिए.

सूत्रों ने बताया था कि सांसदों ने भारत से फेसबुक को होने वाली आमदनी और डाटा सुरक्षा के लिए राजस्व का कितना हिस्सा खर्च किया जाता है, इस बारे में जााना चाहा. उपयोक्ताओं के हिसाब से भारत फेसबुक का सबसे बड़े बाजार में शामिल है. उन्होंने बताया कि समिति ने यह भी जानना चाहा कि सोशल मीडिया कंपनी भारत में कितना कर अदा करती है. बैठक के दौरान उन आरोपों पर भी चिंता व्यक्त की गयी कि अमेरिका में सोशल मीडिया कंपनी के अधिकतर कर्मचारी देश के किसी खास राजनीतिक दल के प्रति झुकाव रखते है.

सोशल मीडिया साइट के कथित दुरुपयोग पर पिछले महीने फेसबुक इंडिया के प्रमुख अजित मोहन कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली सूचना और प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के सामने पेश हुए थे.

bhupendra

Next Post

PM मोदी ने किया स्ट्रीट वेंडर्स से डिजिटल संवाद, कहा- आज़ादी के बाद पहली बार बनी है ‘पीएम स्‍वनिधि’ जैसी योजना

Tue Oct 27 , 2020
PM मोदी ने किया स्ट्रीट वेंडर्स से डिजिटल संवाद, कहा- आज़ादी के बाद पहली बार बनी है ‘पीएम स्‍वनिधि’ जैसी योजना इस योजना के तहत गरीब आदमी, रेहड़ी ठेले वालों को अधिकतम 10 हज़ार तक का लोन दिया जाता है. इस लोन के लिए किसी गारंटी की ज़रूरत नहीं होती. […]