बिहार चुनाव: जानें- कहां कहां लगी रिश्तों की प्रतिष्ठा दांव पर, कहीं पिता तो कहीं पति, कहीं ससुर तो कहीं समधन

बिहार चुनाव: जानें- कहां कहां लगी रिश्तों की प्रतिष्ठा दांव पर, कहीं पिता तो कहीं पति, कहीं ससुर तो कहीं समधन

प्रत्याशियों के भाग्य के साथ इनसे जुड़े नाम जिनकी प्रतिष्ठा आज दांव पर लगी है इवीएम में कैद हो जाएगी जिसका फैसला 10 नवंबर को होगा

पटना: बिहार विधान सभा के पहले चरण के मतदान में कई रिश्तों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. कहीं पिता तो पति और कहीं ससुर तो कहीं समधन, इन सबके भाग्य के साथ इनसे जुड़े नाम जिनकी प्रतिष्ठा आज दांव पर लगी है इवीएम में कैद हो जाएगी जिसका फैसला 10 नवंबर को होगा.

किस-किस की प्रतिष्ठा दांव पर

प्रथम चरण में विभिन्न दलों के कद्दावरों के रिश्तेदारों के भाग्य का फैसला आज इवीएम में कैद हो जाएगा. इनमें कहलगांव से कांग्रेस प्रत्याशी सुभानंद मुकेश हैं जो वरिष्ठ कांग्रेस नेता सदानंद सिंह के पुत्र हैं. वहीं तारापुर विधान सभा क्षेत्र से आरजेडी की प्रथ्याशी हैं दिव्या प्रकाश जो आरजेडी नेता जयप्रकाश नारायण यादव की बेटी हैं. आरजेडी से प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे सुधाकर सिंह रामगढ़ से आरजेडी के उम्मीदवार है.
पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के दामाद देवेंद्र कुमार मांझी मखदुमपुर से हम की सीट पर चुनावी मैदान में हैं, तो पूर्व केन्द्रीय मंत्री और आरजेडी की वरिष्ठ नेता कांति सिंह के बेटे ऋषि सिंह आरजेडी की टिकट पर ओबरा से उम्मीदवार हैं.अवधेश सिंह के पुत्र शशि शेखर सिंह कांग्रेस के टिकट पर वजीरगंज से उम्मीदवार हैं तो आरजेडी के दागी राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी आरजेडी की सीट से नवादा की उम्मीदवार हैं,
पूर्व केन्द्रीय मंत्री दिवंगत दिग्विजय सिंह की बेटी श्रेयसी सिंह बीजेपी की टिकट पर जमुई से उम्मीदवार है तो पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की समधन ज्योति देवी हम के टिकट पर बाराचट्टी से उम्मीदवार हैं

bhupendra

Next Post

राहुल गांधी का PM पर बड़ा हमला, कहा- पहली बार दशहरा पर रावण नहीं, नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया जा रहा

Wed Oct 28 , 2020
राहुल गांधी का PM पर बड़ा हमला, कहा- पहली बार दशहरा पर रावण नहीं, नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया जा रहा राहुल गांधी ने किसान कानूनों को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार और पीएम मोदी पर एक साथ हमला बोला. उन्होंने कहा कि ये दुख की बात है कि […]