खुशखबरी: अगले तीन महीने तक नहीं बढ़ेगा घरेलू उड़ानों के लिए हवाई किराया

खुशखबरी: अगले तीन महीने तक नहीं बढ़ेगा घरेलू उड़ानों के लिए हवाई किराया

News

 

नई दिल्ली: हवाई यात्रा को लेकर गुरुवार को खुशखबर सामने आई है। नागर विमानन (सिविल एविएशन) मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को जानकारी दी कि घरेलू उड़ानों पर हवाई किराये की ऊपरी और निचली सीमा 24 नवंबर के बाद तीन महीने तक और लागू रहेगी।  मंत्रालय ने सबसे पहले 21 मई को सात बैंड के जरिए हवाई किराये की ऊपरी और निचली सीमा 24 अगस्त के तक के लिए लागू की थी। हालांकि इसका क्लासिफिकेशन सफर के समय के हिसाब से किया गया था। बाद में इसे बढ़ाकर 24 नवंबर कर दिया गया।

पुरी ने कहा कि घरेलू उड़ानें इस साल के आखिर तक सामान्य स्थिति में पहुंच जाएंगी। उसके बाद किराये की सीमा को हटाने में कोई दिक्कत नहीं होगी। पुरी ने कहा कि अभी वे इसे तीन महीने के लिए बढ़ा रहे हैं, लेकिन इस साल के आखिर तक अगर उन्हें स्थिति में उल्लेखनीय सुधार दिखेगा और वे कोविड-19 से पूर्व के स्तर पर पहुंच रहे होंगे। ऐसे में अगर नागर विमानन मंत्रालय के उनके सहयोगी चाहेंगे कि इसे पूरे तीन महीने तक लागू नहीं किया जाए, तो निश्चित रूप में उन्हें इसे हटाने में हिचकिचाहट नहीं होगी। डीजीसीए ने 21 मई को टिकटों के लिए यात्रा के समय के आधार पर ऊपरी और निचली सीमा के साथ सात बैंड का ऐलान किया था।

सात बैंड में वे उड़ानें शामिल हैं जिनकी अवधि 40 मिनट से कम है। पहले बैंड के लिए हवाई किराये की ऊपरी और निचली सीमा क्रमश: 6,000 रुपये और 2,000 रुपये है। इसके बाद के बैंड के लिए उड़ान की अवधि 40-60 मिनट, 60-90 मिनट, 90-120 मिनट, 120-150 मिनट, 150-180 मिनट और 180-210 मिनट है। इन बैंड के लिए निचली और ऊपरी सीमा 2,500 रु-7,500 रु, 3,000 रु-9,000 रु, 3,500 रु- 10,000 रु, 4,500 रु-13,000 रु, 5,500 रु- 15,700 रु और 6,500 रु- 18,600 रु है।

bhupendra

Next Post

JEE का टॉपर और पिता ​​गिरफ्तार, इस तरह दिया फर्जीवाड़े को अंजाम

Thu Oct 29 , 2020
JEE का टॉपर और पिता ​​गिरफ्तार, इस तरह दिया फर्जीवाड़े को अंजाम       नई दिल्ली: जेईई परीक्षा में एक बड़े फर्जीवाड़े का भांडाफोड़ हुआ है। असम पुलिस ने जेईई में 99.8% प्रतिशत अंकों के साथ असम में टॉप करने वाले नील नक्षत्र दास, उसके पिता डॉ ज्योतिर्मय दास और एक […]

You May Like