सटोरियों के लिए जयपुर बना जन्नत, आईपीएल के इस सीजन में ही इतने करोड़ रुपए की नकदी जब्त

सटोरियों के लिए जयपुर बना जन्नत, आईपीएल के इस सीजन में ही इतने करोड़ रुपए की नकदी जब्त

News

जयपुर: गुलाबी शहर इन दिनों IPL के इस सीजन के लिहाज से देश में सटोरियों की मनपसंद जगह बनी हुई है। इसका खुलासा खुद जयपुर पुलिस ने किया है। जिसका दावा है कि आईपीएल का यह सीजन शुरू होने के बाद से लेकर अब तक 5 करोड़ रुपये की सट्टे की नकदी जब्त हो चुकी है और 50 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ सट्टे के लिए जरूरी लाखों रुपए के मोबाइल भी जब्त हो चुके हैं।

खास बात यह है कि सट्टे के कारोबार में शामिल लोग राजस्थान के बाहर के अन्य राज्यों के हैं, जोकि दूर दराज से यहां आकर सट्टे पर रुपए लगवा रहे हैं। जब से आईपीएल शुरू हुआ है, जयपुर पुलिस के लिए मानों चुनौती भरे दिनों की शुरुआत हो गई है। आला अधिकारियों की मानें तो आईपीएल के दौरान कभी भी आज तक इतनी कार्यवाहियां नहीं की गयी थीं, जितना इन 50 मैचों में दौरान सामने आई है।

आंकड़े इसलिए भी चौंकाने वाले हैं, क्योंकि अब तक करीब 50 मैचों में जयपुर पुलिस ने सट्टे पर लगी 5 करोड़ रुपए की नकदी जब्त की है, जबकि 300 करोड़ रूपये का हिसाब किताब उसे इन सटोरियों से जब्त करने में सफलता मिली है। इसके अलावा 49 सटोरियों को भी गिरफ्तार किया गया है, जिनके पास से 302 मोबाइल और 45 गाड़ियां भी जब्त हुई हैं। इतनी सारे मामलों के सामने आने पर अब खुद जयपुर का भी कहना है कि भले ही यह आनलाइन प्रतिबंधित जुआ है लेकिन आईपीएल पर सट्टा लगवाने के लिहाज से जयपुर मानों इन दिनों सटोरियों के लिहाज़ से काफी सुगम जगह बन गया है।

एडिशनल कमिश्नर अजय पाल लाम्बा का कहना है कि आज भी हमने सटोरियों की एक बड़ी कार्रवाई की है। इसमें शामिल सभी सटोरिये वेस्ट बंगाल से यहां आए हैं। जयपुर को सुरक्षित मानकर ये लोग शहर के बाहर के फार्म हाउस का चयन करते हैं इनके पास से मीडिया, कोलकत्ता पुलिस, वेस्ट बंगाल के एंटी करप्शन ब्यूरो और मानवाधिकार संगठन के फर्जी परिचय पत्र भी मिले हैं। इस साल आईपीएल सीजन के दौरान हमने 49 सटोरियों को गिरफ्तार करके उनके पास से 5 करोड़ रुपये नकद भी जब्त किए हैं।

ऐसे ही एक रेकेट का जयपुर पुलिस ने खुलासा किया। ये सभी वे आरोपी हैं जो कि एक फार्म हाउस में बैठकर सट्टे से लाखों रूपये का लेनदेन कर रहे थे। इनके पास से 74 हजार रुपए नकद और करोड़ों का हिसाब किताब के साथ 58 मोबाइल, 3 एलईडी, 4 लैपटॉप और 8 डायरियां भी जब्त की गई हैं।

सभी आरोपी दुबई से संचालित वेबसाइट के जरिए सट्टे की इस पूरी कार्यवाही को चला रहे थे। चूंकि ये सभी वेस्टबंगाल के हैं और वहां पर भी इनके खिलाफ ऐसे ही मामले दर्ज हो चुके हैं ऐसे में ये सभी जयपुर आ गए। यहाँ इन्हें आसानी से नए कस्टमर भी मिल रहे थे और इनके लिए पिछले 50 दिनों में यह इलाका पूरी तरह सुरक्षित भी बना रहा।

वैसे सट्टा का यह पूरा कारोबार आनलान ही चलता है, लेकिन इनके द्वारा अब तक किसी तरह के मैच फिक्सिंग की बात सामने नहीं आई है। चूंकि सट्टे का यह पूरा खेल प्रतिबंधित है लकिन इससे जुड़ी सजा बेहद ही कम है ऐसे में ये आसानी से छूट कर फिर से अच्छी खासी कमाई के चलते इसे शुरू भी कर देते हैं। यही कारण है कि पुलिस ने इस बार IPC की धारा 420 के साथ रुपयों की हेराफेरी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर इन पर शिकंजा कसना शुरू भी कर दिया है।


bhupendra

Next Post

रिपोर्ट में खुलासा, रियलमी ने इतने करोड़ स्मार्टफोन बेचकर दुनिया में बनाई मजबूत पकड़, जानें

Fri Oct 30 , 2020
रिपोर्ट में खुलासा, रियलमी ने इतने करोड़ स्मार्टफोन बेचकर दुनिया में बनाई मजबूत पकड़, जानें       नई दिल्लीः टेक कंपनिया ग्राहकों पर पकड़ बनाने के लिए नए-नए ऑफर्स देती रहती हैं। कंपनियों का मकसद बिक्री बढ़ाकर आर्थिक स्थिति को मजबूत करना होता है। रियलमी भी बड़ी स्मार्टफोन कंपनियों में उभकर […]

You May Like

Breaking News